Technical SEO In Hindi जैसा कि आपको नाम से ही पता चल गया होगा,  अपने इस Blog Post  मे हम Full Technical SEO  Guide In Hindi में जानेंगे.

तो यह जानने से पहले की Technical SEO Kya Hai.  सबसे पहले मैं एक बात Clear  कर देना चाहता हूं.

Technical SEO  के बारे में कुछ लोगों के अंदर,  गलत धारणाएं आ जाती हैं जैसा कि किसके नाम से लगता है Technical  तो कई लोग सोच लेते हैं.  कि इसके अंदर हमें Coding  या की  बहुत  कठिन कार्य करना होगा.

लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है Technical SEO भी On Page SEO, Off Page SEO की तरह ही SEO का एक Type  होता है.

अब हम जानते हैं What Is Technical SEO In Hindi.

What Is Technical SEO In Hindi?

जैसा कि मैंने आपको ऊपर ही बता दिया Technical SEO भी एक तरह से SEO का Type होता है.  इसमें हम अपने Website और User Experiance को Check करते हैं और उसे Optimize करते हैं.

अब आप सोच रहे होंगे कि हम अपनी Website और User Experiance को Check करना कैसे Technical SEO  के अंतर्गत आता है.

तो कोई बात नहीं हम पूरी तरह से जानेंगे कि कैसे हम Technical SEO की मदद से  अपने Website  की Performance  और साथ ही साथ User  के Experience अच्छा करेंगे.

ताकि जो भी User हमारी Website पर आता है, उसे हमारी Website को Use करने में कोई भी Problem ना हो और उसका Experiance अच्छा रहे.

साथ ही साथ Technical SEO हमारी Website को Crawl  होने में भी मदद करता है. 

इसका मतलब कि अगर हमारी Website का Technical SEO अच्छा है तो Google को हमारी Website को Crawl  करने में कोई दिक्कत नहीं आती है.

Technical SEO  मैं बहुत तरह के Work या की Techniques use होती है जिनको कि हम अपने  इस Blog में देखेंगे.

हमें Technical SEO  को अच्छी तरह समझने के लिए Search Engine के Work को समझना बहुत जरूरी है.  कि किस तरह वह हमारी Website को Crawl करता है. और Crawl होता क्या है?

What is crawling

तो Crawl या Crawling Google की एक Process होती है, जोकि Google के Web crawler के द्वारा की जाती है.

how search engine work

Crawler एक तरह का Google Bots होते हैं जो कि किसी भी Website को Crawl करते हैं. और इसी Process  को हम Crawling कहते हैं.

इन Crawler का काम होता है कि हमारी Website को Crawl करके हमारी Website को Google  के Database या Server में Index  करवाने का.

How search engine work for ranking

यह Crawler Website  कि हर Link को Check  करते हैं और एक Link से दूसरी Link  को Crawl करते हुए हमारी Website के सारे Page को Crawl कर लेते हैं. 

Search Engine working Indexing Crawling rnking

What Is Technical SEO In Hindi

Ok अब जब हम Search engin  का work समझ गए हैं,  तो अब हमारा यह जानने का समय है What Is Technical SEO In Hindi.

जब भी हम कोई Website बनाते हैं.  तो Search Engine और User हमारी Websiteमें आते हैं Search Engine हमारी Website को Crawlerकी मदद से Crawl करता है. 

जबकि Use हमारी Website से हमारे Blog या Data को Read करता है या हम कह सकते हैं कि Content को Access करता है.

तो हमें ध्यान देना होता है की  हमारी Website में आए हुए User या Search Engine के Crawler को हमारे Web Page को Cralw करने या कि उसको पढ़ने में किसी भी तरह की कोई भी Problem ना हो.

अगर Crawler को Website या Blog को Crawl करने में कोई Problem हो रही है तो उसे Solve करना और उसे फिर से सही करना.  या कि उसे Crawlable बनाना Technical SEOका एक छोटा सा Part है.

और अगर हमारी Website को Read करने में User को कोई भी Problem आ रही है तो उसे भी ठीक करना और उस Problem को Correct करना Technical SEO का काम है.

ऐसे और भी बहुत सारे Technical SEO  के Work होते हैं जिनको कि हम अपने इस ब्लॉग में आगे पड़ेंगे.

अगर हम दूसरे शब्दों में कहें. कि हमारी Website में On Page, और Off Page Optimization  के कारण जो Error या की Problem हो जाती है उनको Solve करना और साथ ही साथ अपनी वेबसाइट को Rank कराने के लिए  कुछ Extra Optimization Technique  को Perform  करना ही Technical SEO  कहलाता है.

Ok अब हम Technical SEO Hindi के Elements के बारे में जानेंगे, की हम Technical SEO मैं कौन-कौन सी Techniques use  करते हैं.

Technical SEO Techniques In Hindi  मैं सबसे पहले मैं आपको  WWW/n on WWW Redirect के बारे में बताना चाहूंगा. की URL Redirection होता क्या है

1. WWW/n on WWW & Http to Https Redirections:  

इस Redirection में हम Check करते हैं कि जो हमारी Website है.  वह सही तरीके से Redirect हो रही है या नहीं.

 इसका मतलब है कि हम अपने Website URL को Different-Different Version में Search Engine में  डालकर Check करेंगे कि वह सही तरीके से हमारे Main Domain  जो हमने अपनी Website के Permalink  मैं सेट किया हुआ है उसमें सही तरीके से Redirect हो Open  सो रहा है या नहीं.

अगर URL के सारे Version एक ही Permalink में Open नहीं हो रहे हैं या की Website Not Found जैसा कोई Error मिल रहा है तो इसका मतलब है कि हमारी Website सही तरीके से रीडायरेक्ट नहीं हुई है और उसे हमें सही करना होगा.

Website के Different Version नीचे दिए गए हैं

myseohindi.com

www.myseohindi.com

http://myseohindi.com

http://www.myseohindi.com

यहां पर मेरा Final URL https://www.myseohindi.com है,  अगर ऊपर दिए हुए सारे URL मेरे Final URL में Open  हो जाते हैं तो इसका मतलब की मेरी Website में Redirection सही तरह से Work कर रहा है.

2. SSL Certificate:

Redirection  के साथ ही साथ हमें Website में SSL Certificate है या नहीं यह भी Check करना होता है.

SSL एक Security Protocol होता है, जोकि हमारी Website को End to End Protection Provide कराता है. ताकि हमारी Website Secure रहे.  और हमारी Website और User के बीच होने वाले Communication या Data Transfer को बीच में कोई Change ना  कर पाए.

SSL HTTPS security protocol Technical seo in hindi

अगर आपकी Website में SSL Certificate नहीं है तो,  या तो आप अपने Domain NameProvider या की Hosing Provider से ले सकते हैं. लेकिन अगर आपको वहां से SSL Certificate महँगा पड़ रहा हो.

 तो आप Cloudflare से Free में SSL Certificate प्राप्त कर सकते हैं. 

अगर आपको नहीं पता कि Cloudflare की मदद से हम SSL Certificate कैसे अपनी वेबसाइट में लगा सकते हैं तो उसके लिए यह मेरा नीचे  दिया हुआ Video देखकर आप अपने वेबसाइट में बहुत आसानी से SSL Certificate लगा सकते हैं.

3. Mobile Friendliness:

इस Technical SEO Hindi Techniques में हमें यह चेक करना होता है कि हमारी Website Mobile Responsive है या नहीं.

इसका मतलब कि आपकी जो Website होती है, कई बार वह Desktop और Laptop में तो सही तरीके से ओपन हो जाती है मगर उसकी Designing Mobile में सही तरीके से Work नहीं करती है.

mobile friendly checker Technical SEO In Hindi

और जब से Google का Mobile Index First और Mobile Responsive Updates आया है तब से अगर आपकी Website Mobile में सही तरीके से Open नहीं होती है तो आपकी Website की Ranking का नुकसान हो सकता है.

साथ ही साथ अगर आपकी Website Mobile Responsive नहीं होती है तो आपकी Website के Rank होने के Chance बिल्कुल ही घट जाते हैं.

अगर आप अपनी वेबसाइट की Mobile Friendliness Check करना चाहते हैं तो आप Google के Mobile-Friendly-Test Tools का Use कर सकते हैं

4. HTML and XHTML Validation:

जैसा की आप सबको पता है कि,  हमारी Website HTML और XHTML जैसे Code से मिलकर बनी हुई होती है. जी हां चाहे आपकी Website WordPress में ही क्यों ना हो उसकी जो Coding होती है उसके जो Backend में Code होता है वह HTML और XHTML से मिलकर बना हुआ होता है.

इस लिए इस में Error होने के Chance बने रहते हैं अगर आप अपनी WordPress की Website के Code के साथ कुछ छेड़छाड़ कर देते हैं तो उसमें Error आने की संभावना हो जाती है.

html and XML Checker technical seo in hindi

इसलिए हम HTML और XHTML Validation Tools  का Use करके यह पता करते हैं कि हमारी Website के HTML और XHTML Code में किसी भी तरह Error तो नहीं आ रही है.

आप  इस Tool HTML and XHTML Validation का Use करके अपनी Website के HTML and XHTML Validation कर सकते हैं 

5. W3C CSS Validation: 

जी हां जिस तरह से आप HTML और XHTML Validation का Validation करते हैं उसी तरह आपकी Website CSS Validation का भी Use होता है जिसे कि आप W3C CSS Validation Tool का use करके यह Check कर सकते हैं कि आपकी Website का CSS Use हुआ है वह सही तरीके से काम कर रहा है या नहीं कर रहा है.

W3 css validation technical seo in hindi

आप CSS को Implement कर सकते है. अगर आप अपनी WordPress की Website में CSS Code डालते हैं तो सबसे पहले आपको W3C CSS Validation Tools का Use करके उसको Check कर लेना चाहिए कि वह सही तरीके से आपकी Website में काम कर रहा है या नहीं कर रहा वह आपकी वेबसाइट के लिए Competible है या नहीं.

6. Speed Optimization:

आप में कई सारे लोगों को पता होगा कि Speed Optimization हम On Page Optimization में भी करते हैं. जी बिल्कुल करते हैं लेकिन कई बार ऐसा होता है कि जब हम Blog या Website बनाते हैं उस समय हमारी Website की Speed सही होती है.

लेकिन कुछ समय बाद हमारे Website और Blog की Speed अचानक से घट जाती है.

तब हमें अपनी Website को या की Blog Post की Speed को Optimize करना होता है ताकि हमारी Website Internet पर जल्दी से Open हो सके.

बहुत सारे लोगों का यहां पर सवाल होगा कि एक अच्छी Website का Open Time या Load Time कितना होना चाहिए.

तो इसका कोई Fix Time नहीं है लेकिन आपकी वेबसाइट का Loading Time जितना कम हो सके आपकी Website के लिए उतना ही उतना बेहतर है.

myseohindi speed optimization technical seo in hindi

और अगर आप पूछते हैं फिर भी Best Time क्या होना चाहिए तो मैं कहूँगा 2.5 Second के अंदर अगर आपकी Website Load होती है तो यह आपके Website या Blog के लिए बहुत ही अच्छा है.

लेकिन किसी भी Website का Loading Time अगर 3.5 Second से ज्यादा होता है तो उस Website को Speed Optimize करने की जरूरत होती है.

क्योंकि आज के Time में कोई भी किसी Link पर Click करता है और अगर वह Website Load होने में 3 Sec. से ज्यादा लेती है तो 10 में से आठ लोग उस Link को छोड़ कर चले जाते हैं या उस Link पर दोबारा Click नहीं करते हैं.

इसलिए आप समझ ही गए होंगे कि आपके लिए Website की Speed को Optmize करना कितना जरूरी है.

आप अपने Website की Speed Check करने के लिए नीचे दिए हुए Tools की मदद से Check कर सकते हैं

मैं Personally अपने Website की Speed नीचे दिए हुए Tools से Check करता हूं 

  1. GTMatrix
  2. Pingdom 
  3. PageSpeed (Google Tools)

7. Check Your Website Crawlable:

इसके लिए आपको सबसे पहले यह Insure करना होता है कि आपकी Website किसी Webmaster Bing या की Google Search Console में Submit होनी चाहिए.

अगर आपकी Website Webmaster में Submit नहीं है तो उसके लिए आपको क्या करना होगा आपको Google में जाकर Google Search Console या की Bing Webmaster Type करके Search करना होगा.

उसमें जो Result आएगा आप को Google Search Console की Website में जाकर आपको Simply Register करना है अपनी Website का URL डालना है इसके बाद Ok कर देना है.

Google Search console

वह आपको एक HTMLकोड देगा जिससे कि आपको आपकी Website के Header Section में डालना रहेगा और इसके बाद आप वापस Google Search Console पर आकर उसको Verify कर सकते हैं.

और आपका Google Search Console बन जाएगा.

इसके बाद जब भी आप अपना New Blog लिखते हैं या की कोई Web Page Create करते हैं तो सबसे पहले Publish होने के तुरंत बाद आपको उसे Webmaster या की Google Search Console में Inspect करना होता है.

url inspection technical seo

अगर आप उस Blog या Web Page को पहली बार Inspect करा रहे हैं तो उसके लिए आपको Google Search Console में Index करने के लिए Request करनी होगी और कुछ समय बाद आपका वह  Blog Google Webmaster में Register हो जाएगा.

तो यह तो सारी Process हुई कि किस तरह आप अपनी Website, Blog या की Web Page को Google Webmaster में कैसे Insert करा सकते हैं और साथ ही साथ आप Google Webmaster में कैसे अपनी Website को Register कर सकते हैं.

अब आप की Website Crawlable है या नहीं उसके लिए आपको क्या करना है Simpally आपको Google Browser में जाना है और इस {Strings Site:myseohindi.com} के साथ आपको आपकी Website का Blog या Web Page का URL बिना HTTPS और www के डाल करके Search करना होता है.

how to check website is crawl

अगर आपकी Website Google के Search Result में आती है तो इसका मतलब कि आप की Website या Blog Gpogle के द्वारा Crawl कर लिया गया है और वह Google में Index हो चुका है.

8. Robots.txt:

आप लोगों को इसके नाम से ऐसा लग रहा होगा कि यह कोई Robot होता होगा जिसे हमें अपनी Website में रखना रहता होगा.

लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं है Robots फाइल या Robots.txt फाइल बिल्कुल ही Simple एक छोटा सा Code होता है जिसे कि हम Notpad पर लिखते हैं.

यह Code बहुत बड़ा नहीं होता कुछ Line का Code होता है जिसमें कि हम Search Console को यह बताते हैं कि हमारे Website के कौन से Part को उसे Crawl करना हैं और कौन से Part को Crawl नहीं करना है.

अब आप लोग सोच रहे होंगे कि हम Website के किसी Part को Crawl क्यों नहीं करवाना चाहेंगे.

तो मैं आप सबको बता दूं कि Website में कई सारी ऐसी जरूरी चीजें होती हैं जो कि हम नहीं चाहते Search Console उसे Crawl करके उसे Index करें और वह Public हो जाए.

इसलिए  हम Robots.txt File की मदद से,  Webmaster को यह बताते हैं कि हमारी Website केवल कौन से Data या की Page या Part को Crawl करना है.

Robot.txt File हमारी Website के लिए बहुत जरूरी File होती है क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि अगर हमारी Website में Robot File Submit नहीं है तो उसकी वजह से कई बार हमारी Website में Duplicate Content या की Duplicate Page का भी Issue आ सकता है.

नीचे आपको Robot.txt File का Formate मिल जायेगा अगर आपकी वेबसाइट में Robot.txt File नहीं है तो आप भी अपनी Website का इसी तरह से Robots.txt Generate करके Yoast SEO Plugin के’ मदद से Submit कर सकते हैं. 

User-agent: *

Disallow: /cgi-bin/

Disallow: /wp-admin/

Disallow: /archives/

Disallow: /comments/feed/

Disallow: /Tag/

Disallow: /index.php

Allow: / User-agent: Googlebot-Mobile

Allow: / Sitemap: https://www.myseohindi.com/sitemap_index.xml

9. Duplicate Content:

ज्यादातर Website में Duplicate Content का Issue Normal Problem होती है लेकिन कई बार इस Problem के कारण आपकी Website की Ranking को बहुत बड़ा Loss हो सकता है.

आमतौर पर Website में Title,, Meta Discription, या Same तरह के Content का Use करने से ऐसी Problem आ जाती है. जिसे की Webmaster Duplicate Content फ्लैग की तरह सो करता है.

लेकिन Problem तब बढ़ जाती है जब आप एक ही Content को अपने कई सारे Blog Post पर बार बार Use करते हैं. या कि आप किसी दूसरे का Copy Content अपने Blog में Use करते हैं.

तब  Webmaster Confuse हो जाता है कि आखिर आपका Orignal Content कौन सा है और उसे कौन से Content या URL को Index करना चाहिए.

ऐसी स्थिति से बचने के लिए आपके पास कुछ उपाय है जो मैं आपको यहां पर बता रहा हूं.

पहला तो आप अपने वेबसाइट में Robot.txt file का use कीजिए जो कि मैं आपको ऊपर बता चुका हूं.

दूसरा  आप अपनी Website में Conical Tag का Use करके Webmaster को यह बता सकते हैं कि आपका यह जो URL है वह बिल्कुल Unique है.

इससे क्या होगा कि अगर आपके किसी दो Blog में Same तरह का Metaया की Title डाला हुआ है लेकिन उसका यूआरएल Canonical Tag की मदद से आपने Secure किया हुआ है तो Webmaster समझ जाएगा कि यह दोनों Blog आपके अलग अलग है.

Canonical Tag Use करने के लिए आप Yoast SEO Plugin का Use कर सकते हैं तो जब आप कोई भी Blog या Page को Yoast SEO Plugin की मदद से Optimize करते हैं आप को Yoast Plugin में एक Advance Option मिलता है  जहां पर आप अपने Webpage या की Blog का Caninical Set कर सकते हैं. 

यह भी Technical SEO Hindi का एक बहुत जरुरी Techniques है.

Broken link वह Links होती है जो कि हमारी Website में डाली हुई होती हैं या तो वह Broken link हमारे ही किसी Internal Page की Link होती है.

या की कोई Outbond Link हो सकती है जो कि हमने अपनी Website में डाली हुई होती है.

यह Broken link कैसे बन जाती है पहले इस पर बात कर लेते हैं.

तो क्या होता है कि हम कई बार अपनी Website में कुछ Page या Blog बनाते हैं और उनको अपने किसी Blog से Link कर देते हैं.

और कुछ समय बाद ऐसा होता है कि हमें वह Webpage या कि Blog Delete करना पड़ जाता है या कि हम Delete कर देते हैं.

तब क्या होता है जो हमने पहले उस Page को Link किया होता है वह Link Page हमारे Page में Available रहता है लेकिन हमने वह Page या Blog Delete कर दिया है.

broken link checker technical SEO in hindi

इसके कारण  जब भी कोई हमारी उस Link पर Click करता है तो वह हमारे Targated Page तक नहीं पहुंच पाता क्योंकि हमने उसको Delete कर दिया है. 

Same Outbond Link के साथ भी ऐसा ही होता है कई बार हम किसी ऐसी Website को अपनी Website पर Link दे देते हैं जो कि या तो बंद हो जाती है या कि वह अपने उस Blog या Page को Delete कर देता है जिसे हमने अपनी Website में Link किया हुआ है.

ऐसे में अगर कोई हमारा User उस link पर Click करता है तो उसे वह Targated Page नहीं मिलता है और उसमे Error आ जाती है.

एक बात मैं आपको बता दूं Broken link का असर सिर्फ User पर नहीं होता बल्कि हमारे Webmaster पर भी पड़ता है क्योंकि जब हमारा भी Webmaster हमारी Website, Blog और Content को Crawl कर रहा होता है तो वह एक Link से दूसरे Link पर जाता है. और इसी तरह से वह हमारी पूरी Website को Crawl करता है.

लेकिन Crawler को जब कहीं कोई Broken link मिल जाती है तो वह आगे Crawl नहीं कर पाता और वहीं से Return हो जाता है इसकी वजह से कई बार हमारे Internal Page Crawl नहीं हो पाते हैं.

जिसके कारण कि हमारी वेबसाइट की Ranking Down हो जाती है.

अगर आप अपनी Website में Broken link Check करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए Check My Link Broken link Checker Tools की मदद से आप अपनी Website में Broken link Check कर सकते हैं. 

Bonus: जी हां आपके लिए हमारे पास आपके लिए कुछ Bonus और Advanced Technical Tips है जो कि मैं अपने Advanced SEO Master Class Course  मैं बताता हूं उनमें से मैं आपको यहां पर एक Advanced Topic दिखा रहा हूं जिसे हम कहते हैं Sitemap

11. Sitemap: 

जी हां Sitemap में भी  Technical SEO Hindi का ही पाठ होता है,  Sitemap Basically आपकी Website का Technical Structure होता है जिसको कि आपको Google Search Console  या की किसी Webmaster में Submit कर आना होता है.

 Sitemap से गूगल सर्च कंसोल को आपके Website का Structure समझने में काफी आसानी होती है इसलिए वह आपकी Website को जल्दी Crawl कर पाता है.

और आपकी वेबसाइट को काफी पसंद भी करता है अगर आपकी वेबसाइट में Sitemap में डाला हुआ है.

Yoast seo generated xml sitemap technical SEO in hindi

अब आप सोच रहे होंगे कि यह साइड में क्या होता है तो साइड में जो है तो एक HTML या XML फाइल होती है.

जो कि आप Plugin या की कुछ वेबसाइटों के द्वारा अपनी वेबसाइट का Sitemap Generate कर सकते हैं और उसको अपने Webmaster के अंदर Sitemap Option में जाकर Submit करा सकते हैं.

xml sitemap technical seo in hindi

Sitemap कई तरह के होते हैं.

अगर आप Detail में Sitemap और Advanced Technical SEO सीखना चाहते हैं तो आप हमारे Advanced SEO Master Class Course में Enroll कर सकते हैं.

Advanced SEO Master Class

Conclusion:

तो Friends अभी आपने मेरे इस Blog में Technical SEO In Hindi को काफी Detailमें पढ़ा जिसमें हमने बात की कि What is Technical SEO in Hindi, यह Blog एक Technical SEO In Hindi Guide है. और यह जाना की Technical SEO किस तरह हमारी वेबसाइट को Impact करता है.

साथ ही साथ अपने इस Blog में मैंने आपको,  जो भी Technical Error अगर आपकी Website में आ रही है उस को Solve करने के तरीके भी बताए जो आपके लिए काफी यूज़फुल होंगे.

Technical SEO भी SEO का एक बहुत ही Important Part है.  जिस तरह आप अपनी Website में On Page SEO, Off Page SEO करते हैं उसी तरह से आपको आपकी वेबसाइट में Technical SEO को भी Implement करते रहना बहुत जरूरी है.

 क्योंकि चाहे आपकी Website कितनी भी अच्छी हो लेकिन उसमें जब Technical Error आ जाती है तो आपकी वेबसाइट की Ranking नहीं बढ़ पाती है.

अनुरोध: Friends मैं आपके लिए सारी जानकारी काफी मेहनत से और Research करके लाता हूं यह मेरा खुद का Practical Implementation होता है,  लेकिन फिर भी अगर आपको लगता है कि कहीं पर मुझसे कुछ चीजें छूट गई है क्योंकि मैं भी आपकी तरह एक ही Human हूं और Human Being से गलती होना मुनासिब है.

तो इसलिए आप  अपने सुझाव हमारे साथ Comment में साझा कर सकते हैं मुझे आपके Comment पढ़ कर बहुत ही अच्छा लगेगा.

 साथ ही साथ आपके लिए नीचे कुछ मेरे Previous Blog की Link डाल रहा हूं अगर अभी तक आपने वह सारी चीजें नहीं पड़ी है तो आप पढ़ सकते हैं.

How To Earn Money From SEO In Hindi | SEO से पैसे कैसे कमाए?

Friends अगर आप जानना चाहते हैं How to earn money from SEO in Hindi?  तो आप बिल्कुल सही Blog पर हैं.  आज मैं अपने इस Blog मैं आपको बताऊंगा कि आप कितने तरीके से SEO सीख कर उससे अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं.  मेरे हिसाब से SEO के जरिए पैसे कमाना अन्य दूसरी Technology से पैसे…

Continue Reading How To Earn Money From SEO In Hindi | SEO से पैसे कैसे कमाए?

How To Write A Blog In Hindi | Hindi Blog Kaise Start Kare

How to write a blog in hindi? यह सवाल मुझसे कई लोगों ने पूछा है। लेकिन इस सवाल का जवाब जानने से पहले हमें यह जानना चाहिए. What is Hindi blog. blog meaning in hindi  वह blog होते हैं जहां पर लोग अपना Knowledge किसी दूसरे Person के साथ लिख कर Share करते हैं. यह…

Continue Reading How To Write A Blog In Hindi | Hindi Blog Kaise Start Kare

Best SEO Tools In Hindi | Your Website Better Ranking 2020

यह एक Best SEO Tools in Hindi Guide है, जिसमे आप जानेंगे ऐसे कौन-कौन से SEO Tools है जिनकी मदद से आप अपने Website को Google के First Page पर Rank करा सकते हो. और साथ ही साथ अपनी Website के Traffic को कई गुना तक बढ़ा सकते है. मगर इन SEO Tools In hindi…

Continue Reading Best SEO Tools In Hindi | Your Website Better Ranking 2020

On Page SEO in Hindi An Ultimate Guide For 2020 To Rank #1

On Page SEO In Hindi यह एक Full On Page SEO Technique in Hindi Guide है जिसमे आप सीखोगे कि on page SEO kya hai?, On Page SEO Kaise Kare, On Page Optimization kaise kare और बहुत कुछ जो आप को नीचे दी हुई Content Table में देख सकते है. मुझे पता है कि ये…

Continue Reading On Page SEO in Hindi An Ultimate Guide For 2020 To Rank #1