On Page SEO In Hindi यह एक Full On Page SEO Technique in Hindi Guide है जिसमे आप सीखोगे कि on page SEO kya hai?, On Page SEO Kaise Kare, On Page Optimization kaise kare और बहुत कुछ जो आप को नीचे दी हुई Content Table में देख सकते है.

मुझे पता है कि ये On Page SEO In Hindi Blog Post थोड़ी बड़ी है. लेकिन अगर आपने इसे पूरा पढ़ लिया और अपने Blog या Website को मेरी On Page SEO Technique in Hindi के अनुसार Optimize कर लिया तो मैं इस बात कि Gurentee देता हूँ कि आप को इस Blog के बाद कोई भी On Page SEO in Hindi का Blog नहीं पढ़ना पड़ेगा.

मैं ये इतने भरोसे के साथ क्यों कह रहा क्यों कि मैंने इन्ही सारी On Page SEO Technique in Hindi को Follow करके अपने कई सारे Keyword और Blog को Search Engine के First Page पर Rank कराया है वो भी बहुत कम समय में आप नीचे खुद देख सकते हो

मेरी यह Latest SEO Trends In Hindi मात्र 1 दिन में Search Engine पर Rank हुई है और सिर्फ इसी keyword पर नहीं बल्की कई और भी कई सारे Keywords के लिए Rank कर रही है.

जैसे “SEO Trends hindi” “SEO Trends In Hindi” और भी.

तो अब बात करते है कि On Page SEO In hindi क्या है?

What Is On Page SEO In Hindi? On Page SEO kya hai?

अगर आप को SEO का थोड़ा Basic Knowledge भी होगा तो आप जानते होंगे कि  On Page SEO In Hindi, SEO का एक Type होता है. 

On Page SEO हम अपनी Website को User Friendly और attractive बनाने के लिए करते है. हमारी Website के अंदर जो भी Optimization होता है उसे हम On Page SEO के अंदर रखते है.

Importance OF On-Page SEO In Hindi:

अब बात आती है कि On-Page SEO कि Importance क्या होती है. तो On-Page SEO किसी भी Website के लिए Pillor(नीव) का काम करता है.

इसका मतलब कि आप कि Website के बनने कि शुरुआत ही On Page SEO In Hindi से होती है. क्यों कि On Page SEO ही एक ऐसी चीज है जो आप कि Website को Higher Ranking तक ले जा सकती है.

बिना Proper On Page Optimization In Hindi के चाहे आप कितनी भी Backlinks Create कर लो आप Rank नहीं कर पाओगे.

Proper On Page SEO कि वजह से ही आप कि Website Attractive लगती है और Visiter आप कि Website में ज्यादा से ज्यादा Time रुकता है.

मेरे ख्याल से On Page SEO In Hindi का इतना Introduction काफी है तो चलिए अब ये जान लेते है कि ऐसी कौन-कौन सी On Page SEO Technique in Hindi होती है, जिनकी मदद से आप अपनी Website या Blog को SERP में Rank करा सकते है.

आप कि Website को 2020 में Rank कराने के लिए निम्नलिखित Point का विशेष ध्यान देना पड़ता है.

  • Content Optimization
  • User experience
  • Bounce Rate and Dwell Time
  • Search Intent
  • Page loading speed
  • Click-through-rate

ये सारे Point आप को आगे पढ़ने को मिलेगा.

जैसा मैंने आप को पहले ही बताया था ये Blog Post एक Full On Page SEO Technique in Hindi Guide इस लिए मैं आप को यहाँ पर 17 Best On Page SEO Technique in Hindi बताने वाला हूँ जो 2020 में आप के Blog के लिए बहुत Importance होगी.

1. SEO Friendly URL Structure: 

क्या आप अपने Blog के लिए SEO Friendly URL use करते है? 

लोग SEO करते है तो उनका सारा Focus Conetent में होता है, मुझे पता है कि Content सबसे ज्यादा Important होता है. और उसको Optimize करना अच्छी बात है.

url optimization on page seo in hindi
url optimization

मगर आप ने कभी ये सोचा है कि URL Optimization करना भी उतना ही Important होता है जितना कि Content Optimize करना है.

Importance of SEO Friendly URL Structure.

आपने देखा होगा जब भी आप Search Engine में कोई Query Search करते है. तो सबसे पहले आप को जो दिखता है वो होता है URL. 

URL इस लिए भी Important होता है क्यों कि ये User और Search Engine को आप का Intent को समझने में मदद करता है. कई बार User सिर्फ आप का URL देख कर ये समझ लेता है कि आप का Blog उसके लिए Important है या नहीं.

How To Make Your URL SEO SEO Friendly

तो चलिए जानते है आप कैसे अपने URL को SEO Friendly बना सकते है. यहाँ पर मै आप को 3 Parameeter बताने बाला हुं जो जो आप को आप के URL को SEO Friendly बनाने में आप कि मदद करेंगे.

  • Keyword in URL
  • Length of URL
  • Don’t use ugly URL

चलिए इनको एक – एक करके जानते है.

  1. Keyword In URL: आप को हमेशा अपने URL में Focus Keyword का use करना चाहिए यह आप के Blog के Intent को Clear कर देता है कि आप का Blog किस Subject से Related है और User को आप के Blog को समझने में भी मदद करता है.
  1. Length Of URL: आप को हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि आप के Blog कि Length ज्यादा नहीं होनी चाहिये. किसी भी URL के लिए Ideal length 55 Charater होती है. आप Calculate the Character length कि मदद से अपने URL कि Length Check कर सकते है.
  1. Don’t use Ugly URL: जैसा कि आप को मैंने पहले ही बताया कि According To Google आप अपने URL में अगर अपना Focus Keyword Use करते है और Length Short रखते है तो वो User Intraction के लिए काफी अच्छा होता है.

यहाँ पर मैं 2 URL past कर रहा हुं आप खुद देखिये ज्यादा अच्छा कौन सा है.

https://myseohndi.com/8/6/16/cat=SEO/pageid=890.html

Of Course आप को दूसरा URL अच्छा लगा होगा. और समझने में भी आसानी हो रही है कि ये Blog What Is SEO In Hindi के बारे में है.

यह एक बहुत Important On Page SEO Technique in Hindi है.

2. Title Optimization:

दूसरी Important On Page SEO Technique in Hindi है Title केवल अपने दम पर आप के CTR को बढ़ा सकती है. अगर आप का Title अच्छे से Optimize है तो आप कि Website का CTR (Click Through Rate) काफी अच्छा रहता है.

Title Optimization Techniques

मैंने देखा है बहुत सारे जो अपने Title को SEO Optimize करते है. वो लोग अपने Title को Optimize करने के लिए उसमे Power Words, Emotions, और Curiosity Generate करने वाले Word use करते है.

क्यों कि 80% User आप का Title देख कर ही ये Decide करते है कि उनको आप के SERP Result में Click करना है, या नहीं.

आप भी अपने Title में ये सारी Technique use कर सकते है.

यहाँ पर मैं आप को 5 Title Optimization Hack बताने बाला हुं जो कि शायद आप को कही और जानने को नहीं मिलेगा. जिसको Apply करके आप अपने Title को Fully SEO Optimize कर सकते है.

title optmization on page seo in hindi
Title optmization
  1. Title Length: किसी भी Blog के Title कि Length 46 to 56 Character के बीच में होनी चाहिए आप  title length कि मदद से अपने Blog कि Length Check कर सकते है.
  1. Pixel of Title:  Blog Title का Pixel भी एक Importance Tactics है इसलिए हमे इसे भी ध्यान में रखना चाहिए Title Pixel Meter कि मदद से आप किसी भी Blog का Pixel Check कर सकते है.

किसी भी Blog के लिए Title Pixel 420 से 460 के बीच होनी चाहिए.

  1.  Title Analyzer: जो तीसरा Important Parameter है वो है Title Analyzer Score अगर आप को अपने Title का Analyzer Score Check करना है तो आप CoSchedule कि मदद से अपना Title Analyze Score check कर सकते है.

किसी भी Blog का Title Analyze Score कम से कम 56 के ऊपर होना चाहिए.

  1. Title Separator: आप किसी भी 2 Sentance को जोड़ने के लिए Pipe Sign Separator (I) का use कर सकते है इस कि मदद से आप अपने Title को 2 Part में Devide करके Search Engine को ये बता सकते हो कि आप के Title में Keyword क्या है.
  1.  Don’t Use Stop Words: अपने Title में कोई भी Stop Word का use ना करे Stop word वो होते है. जो आप के Title कि visibility को कम करते है. 

जैसे कि (in; into; able; just)

3. Meta Description:

आप को Meta Description का पता होगा जब भी आप Search Engine में कोई भी Query Search करते है तो जो SERP में Result आता है, उसमे 3 चीजें होती है पहली URL, दूसरी Title और तीसरी चीज होती है Meta Description. जो कि आप नीचे Image में देख सकते हो.

Meta description in hindi
Meta description

इस Meta Description को Optimize करना भी एक Important On-Page SEO Technique in Hindi.

Importance of Meta Description:

Meta Description Basically आप के Post कि Summary होती है.

जो लोग Search Engine में कोई Query Search करते है उस मे से 10 में 8 लोग ऐसे होते है जो Meta Description पढ़ने के बाद ही आप कि Website के Link पर Click करते है.

तो यहाँ मैं आप को कुछ Technique बताने वाला हुं जिसकी मदद से आप अपने Meta Description को Fully SEO Optimize कर सकते है.

  • Primary Keyword: Meta Description में आप को हमेशा अपना Primary Keyword डालना चाहिए ताकि जो भी लोग Meta Description पढ़े तो उनको आप के Blog के बारे में पता चल सके.
  • Readable and Powerful: आप के Meta Description कि Copy Readable और Powrful होनी चाहिए ताकि लोग आप कि Website Link में Click करने के लिए मजबूर हो जाए.
  • Correct Length: किसी भी Meta Description कि length 132 से 156 के अंदर ही होना चाहिये इसका विशेष ध्यान देना चाहिए.
  • Uniqueness: आप के Meta Description कि Copy Unique होनी चाहिए किसी दूसरे या आप के खुद किसी दूसरे Blog का Copyed Meta Description नहीं होना चाहिए.
  • Use Power Word: अपने Meta Description में पॉवर Word और Offer का Use करे जैसे “Best”, “Ultimate”, “Easy” etc.

क्या आप और भी Detail में Advanced SEO पढ़ना चाहते है अगर पढ़ना चाहते है तो नीचे दिए गए Banner पर click करे.

4. SEO Optimized Content &  Paragraph:

अभी हमने On Page SEO In Hindi कि 3 Techniques URL Optimization, Title Optimization और Meta Tag Optimization देखा. ये 3 चीजें को Optimize करने के बाद अब हम बात करते है. Content और Paragraph Optimization करने का 

Content: आप कि Website में जो भी चीज़े Visible है वो होती है Content. Content निम्न प्रकार के हो सकते है.

  • Text (Paragraph)
  • Image/Infographic
  • Video
  • Podcast
  • Image

तो अब आगे आने वाले On-Page SEO Technique in Hindi में हम इन सारी Techniques को एक एक करके जानेंगे. कि कैसे हम अपने Content को Optimize करेंगे. 

इनकी मदद से कैसे अपने On Page SEO in Hindi Score को बढ़ा सकते है. और अपनी Website को Rank करा सकते है.

Paragraph Optimization: 

जायज़ सी बात है आप के एक Blog Post में बहुत सारे Paragraph होगें. मगर क्या आप को पता है कि आप का First Paragraph बहुत Important होता है.

आप के First Paragraph में आप का Focus keywords का होना जरूरी है. कोसिस कीजिए अगर आप के First Paragraph कि First line Keyword से Start हो तो बेहतर है.

चलिए अब हम कुछ ऐसे Common Point कि बात करते है जो Paragraph Optimization के लिए Important होते है.

  • Maximum Word: किसी भी Paragraph में Maximum 150 word से ज्यादा नहीं होना चाहिये आप Paragraph जितना छोटा रखेंगे User को पढ़ने में उतना ही आसान होगा.
  • Sentence length: Paragraph Sentence कि Ideal Length 20 Word से ज्यादा नहीं होनी चाहिए. ताकि Reader को Line समझने में कोई दिक्कत ना आए.
  • Use Simple Sentence: अगर आप हिंदी में Blog लिख रहे है तो Sentence को Simple रखे. ताकि users को समझने में आसानी हो. लेकिन अगर आप English में Paragraph लिख रहे है तो Active Voice and Simple Sentence दोनों use करे.
  • Use Keyword Oriented Sub Heading: अगर आप का Blog Post Long है तो आप को Multiple Sub Heading Use करना चाहिए. आप 300 words के बाद एक Sub Heading Use कर सकते है. और आप कि Sub Heading keywords Oriented होनी चाहिए

इन सारी Paragraph Optimization On Page SEO Technique in Hindi का Use करके आप अपने Blog के सारे Paragraph को Optimize कर सकते है. 

5. Keyword Density: 

Wikipedia के अनुसार 

QUOTE: “KEYWORD DENSITY’ is simply a PERCENTAGE value of the NUMBER OF TIMES a KEYWORD or KEY PHRASE appears on a WEB PAGE compared to the TOTAL AMOUNT OF WORDS on the page.”

Wikipidia

जिसका मतलब है कि आप के blog में जितना Word है और उसमे जितने बार आप का Focus keywords use हुआ है उसको multiply करके 100 से devide करेंगे. तो जितने percentage आएगा उसे keyword Density कहेंगे.

  keyword Density= total word*No of focus keyword/100 

Friends वो time गया जब लोग अपने blog में Keyword Stuffing मतलब कि बहुत सारे keywords डाल कर अपने blog को rank करा लेते थे.

अब search engine आप कि तरह smart हो गए है, इस किये अब आप Keyword Stuffing करके अपने blog को Rank तो नहीं करा सकते उलटे अपने blog को panalize और user experianc ख़राब करलेगे.

Google का कहना है कि आप अपना Blog Natural Flow में किखिये ताकि आप के audiance को पढ़ने और समझने में कोई परेशानी ना हो.

keyword Density का कोई exact no नहीं है कि आप के blog में कितनी keyword Density होनी चाहिए लेकिन आप 0.8% से 2% के बीच में इसे रख सकते है.

इस video में आप keyword Density और उसके use के बारे में आसानी से जान सकते है.

6 . LSI Keywords

यह Semantic optimization होता है आपने LSI Keywords के बारे में सुना होगा. of LSI का Full form Latent Semantic Indexing होता है.

कई सारे लोग सोचते है कि LSI Keywords. Focus Keywords के synonyms होते है तो ऐसा बिलकुल भी नहीं है.

बल्की ये एक Term होती है जो कि हम अपने Focus Keywords के साथ use करते है. LSI keyword कि मदद से हम अपने Blog में keywords Stuffing को भी रोक सकते है.

चलिए मैं आप को एक Real World Example से समझाता हूँ.

मान लीजिए आप का कोई पुरानी Car का Business है तो आप का Focus keywords हुआ “Use Car” तो अगर आप कोई Use Car पर Blog लिख रहे हो. या कि अपने किसी Page को Optimize कर रहे हो. तो अगर आप बार-बार use Car का प्रयोग करोगे तो ये Keyword Stuffing हो जाएगी.

lsi keyword on page seo
lsi keyword on page seo in hindi

तो आप  Keyword Stuffing से बचने के लिए LSI Keywords का use कर सकते हो जैसे “used car dealers,” Used Card online, or “Used Car website” etc.

Importance of LSI Keywords

LSI Keywords को use करने के कई फायदे है जैसे कि 

  • आप अपने Blog या Website को Keyword Stuffing से बचा सकते हो.
  • एक ही Blog में कई सारे keywords के Variants use कर सकते है.
  • एक blog को कई सारे keywords के लिए rank करा सकते हो. 

Where To Use LSI Keywords:

आप LSI Keywords का use Blog और Web Page में निमं प्रकार से कर सकते है.

  • Image Alt text में 
  • H1 Tag, H2 or H3 Tags के अंदर
  • Title में 
  • Blog Text में.

अगर आप अपने Blog या Web Page में LSI Keywords का Use करते है तो उस Blog या Website के कई Keywords पर Rank होने के Chance बढ़ जाते है.

7. Blog Post Length:

आप को पता है Google Love Long Blog post. क्यों कि google चाहता है कि आप अपने user को ज्यादा से ज्यादा Value provide करो. 

आप का content जितना long होगा आप कि post कि higher ranking के उतने ज्यादा chance बढ़ जाते है.  लेकिन आप का content सिर्फ long होने से कोई बात नहीं बनेगी उसके लिए आप का content Unique और quality content होना बहुत जरूरी है.

मैं यहाँ पर आप के साथ कुछ result साझा करने जा रहा हूँ जो कि SEO Industry के Experts द्वारा follow किये जाते है.

  • Longer post को shorter post कि तुलना में 77.2% ज्यादा backlinks मिलने के chance होते है क्यों कि जो भी लोग आप के blog को अपने blog से link करेंगे वो चाहते है कि आप का blog उनके customer के लिए quality content हो.
  • जो blog 3000 Words से ज्यादा के होते है उनको 1000 words वाले blog post कि तुलना में ज्यादा share मिलते है.
  • SERP में जो First 3 result होते है, तो Quality और Long content होते है.

How Much Long Content:

अब आप ये जानना चाहते होंगे कि आप कितना Long Content लिखे कि आप का Blog post search engine में rank कर जाए तो उसके लिए आप को कुछ सुझाव देना चाहूँगा.

  • पहला आप को Content length Long और Deep Analysis करके लिखना चाहिए.
  • आप content लिखने से पहले अपने Top 3 Competitor के blog length check कर लीजिए और हमेशा अपने Compititor के Blog से long blog लिखिए.
  • अपने और अपने compititor के blog post को हमेशा analize करते रहना चाहिए और कुछ time बाद अपने Blog को Update करते रहना चाहिए.

अगर आप इन सारी बातों का ध्यान रखते है तो एक तो आप का Blog बहुत जल्दी Search Engine में Rank कर जायेगा और दूसरा आप अपने Content को हमेशा Top पर रख सकते है.

8. Image Optimization: 

Paragraph Optimization के बाद अब आप अपने Blog में Image डालेंगे. क्यों कि Image आप के Blog को ज्यादा Attrative बनती है, इसकी वजह से आप का User Ingagement बहुत बढ़ जाता है.

मगर बहुत सारे लोग इस पर ध्यान नहीं देते और कोई भी Image उठाकर अपने Blog में डाल देते है.  जो कि बिलकुल ही गलत है.

आप को हमेसा अपने Blog में Optimize Image Use करनी चाहिए. Image Optimization एक Crucial और Important On Page SEO Technique in Hindi है.

यहा पर मैं आप को 10 ऐसी Image Optimization Technique बताऊगा जिसकी मदद से आप अपनी Image को अच्छी तरह से SEO Optimize कर सकेंगे और साथ ही साथ उसकी मदद से आप अपने Blog और Image को Search Engine में Rank भी करा सकेंगे.

  1. Use Valuable Images: Image आप के Content से मिलती जुलती और Valuable होनी चाहिए अगर Image कोई Value add नहीं कर रही, तो उसे Use ना करे
  1. Images Placement: आप को ये जानना बहुत जरूरी है कि Blog में Image को रखने का सही Place कौन सा है. हमेशा Image को Relevant Text के नीचे Place करे.
  2. Less Text On Image: Image में कम से कम text का use करे 
  3. Images URL Structure: आप जो भी image अपने blog में use कर रहे है. उसका Image नाम readable और short होना चाहिए. 
  4. Image Compression: आम तौर में हमारी Image का Size बहुत ज्यादा होता है. जिसकी वजह से website का loading time बढ़ जाता है. और हमारी website slow हो जाती है. इसलिए हमे हमेशा Compressed image use करनी चाहिए.
  5. High Quality Image: Blog या Website में हमेशा High quality कि Image use करनी चाहिए. इस लिए आप जब भी Image को Compress करे तो उसकी Quality का हमेशा ख्याल रखे.
  6. Alt Text: हमें प्रत्येक Image में Alt text देना चाहिए. Alt text जब कभी कोई image show नहीं होती है तो वहा पर Alt text visiter को ये समझने में मदद करता है कि ये Image किस बारे में है.
  7. Responsive Image: किसी भी Website या Blog में हमेशा Responsive image use करनी चाहिए ताकि आप कि website सभी Device में एक जैसी और Responshive रहे.
  8. Titles, Captions, filenames: Image को optimise करने के लिए आप को उस image में Titles, Captions, filenames यह सारी जानकारी आप उस image में डाल सकते है.
  9. Image Site-map: अपनी image का Sitemap जरुर Submit करना चाहिए ताकि उससे google को Additional Information मिल सके.

9. Video Optimization:

जैसा कि आप को पता है 2020 में Video SEO Trends है. अगर आप अपने Blog में Video Insert करते है तो इसके कई सारे फायदे होते है.

  • आप कि Ranking Increase होती है.
  • Bounce Rate Decrease होता है और Dwell time Increase होता है.
  • Video के Through आप Backlinks Create कर सकते सकते है.

आप अपने Blog में YouTube Video Embed करे. मैं YouTube Video Embed करने के लिए इसलिए कह रहा हूँ  क्यों कि YouTube सबसे बड़ा Platform है जहाँ पर video देखे जाते है.

और Google भी YouTube के Video को Promote कर सकते है. साथ ही साथ आप अपने Video का Video Schema भी Generate कर के आप use Video Snippet में convert करा सकते है. 

आप को हमेशा अपने Blog के First Paragraph के नीचे ही या कि Relevent Topic के पास Video Video Embed करना चाहिए.

10. Use Infographic:

Infographic Optimization एक बहुत ही Important On Page SEO Technique in Hindi है. आप अपने Blog में Infographic का use करके अपने Blog में ज्यादा से ज्यादा user Engagment बढ़ा सकते है. 

क्या आप जानते हो आप Infographic को Use करने से आप कि post को noramal blog post कि अपेक्षा 10 गुना ज्यादा share और Backlinks मिलने के chances बढ़ जाते है.

अगर आप अपने Blog में Infographic use कर रहे है तो आप को कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए जैसे 

  • Infographic high quality कि होनी चाहिए.
  • Easy to understand होनी चाहिए 
  • Relevant to post होनी चाहिए
  • Don’t use so much text on infographic 

आप अपने blog में एक से ज्यादा infographic use कर सकते है. हमेशा infographic relevent text के बाद use करना चाहिये ताकि user को समझने में आसानी हो. 

11. Podcast Optimization:

यह एक बहुत ही Amazing on page seo in hindi technique है इसकी मदद से आप अपने website में अच्छा खासा user ingement बढ़ा सकते है.

जैसा कि आप जानते हो कि आज कल कि Life कितनी busy है लोगो के पास long post पढ़ने के लिए इतना time नहीं होता है. तो ऐसी Condition में आप अपने Blog Post में Podcast का use करके, एक तो अपने blog को engaging बना सकते हो. 

podcast optimization
podcast optimization

दूसरा उन लोगो को अपने blog में ला सकते हो जिन लोगो के पास पढ़ने का time नहीं होता. तो वो लोग Podcast सुनकर आप के Blog के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है.

मै आप को बताना चाहूँगा कि Podcast direct आप कि ranking में कोई मदद नहीं करेगा मगर ये आप कि Blog को rank कराने में Dremetically आप कि बहुत ज्यादा help करता है. आइए जानते है कैसे.

  •  Podcast कि मदद से आप अपने website में ज्यादा से ज्यादा user को engage करके रख सकते है.
  • User ज्यादा देर तक website में time spend करेगा.
  • Dwell time increases होगी.
  • User आप के content को ज्यादा share करेगा.

इस तरह से Podcast आप कि Higher Ranking में मदद करते है.

अब जानते है कि Internal link building kya hoti hai? 

अपने ही website के एक page को दूसरे page से link करने कि process को internal linkbulding कहते है. चलिए आप को एक example से समझाता हुं.

in bound linking on page seo in hindi

मानलीजिये आप के पास कोई 2 Blog है Blog A और Blog B और दोनों Blog Same Niche but Different topic पर है. तो आप अपने Blog A में Blog B कि link डाल कर दोनों blog को आपस में linked कर सकते है इसे कहते है Internal Linking.

Why is Internal Linking Important?

Internal link building कि मदद से आप search engine को ये बता सकते है कि आप ने और भी Topic पर blog लिखे है. Search Engine के boats Crawler या Spider जब आप कि website को crawl कर रहे होते है, तो जब उनको कोई link मिलती है तो वो उस link को भी crowal कर लेते है.

Internal Linking important search engine में हमारे old pages को crowal करवाने के लिए भी use होती है.

इस कि मदद से हम अपने दूसरे page पर भी traffic ला सकते है. जब भी कोई user आप कि website में आता है और उसको जब कोई link मिलती है वो वो click करके आपके उस linked page पर visit करता है.

इससे आप के 2 फायदे होते है.

  • पहला आप का Dwell time बढ़ता है.
  • दूसरा आप के आप के दूसरे linked page के rank होने के chance बढ़ जाते है.

अब आप को ये तो पता चल गया कि Internal Link Building kya hai? और Internal Link Building के फायदे क्या है?

अब हम जानते है कि internal link Building kaise kare? और इसको करने का सही तरीका क्या है?

Internal link building करने के लिए आप या तो Anchor text का use कर सकते है.

Internal Link bulding
Internal Link bulding

<A HREF = “https://www.myseohindi.com/what-is-seo-in-hindi/“> Learn SEO In Hindi</A>

या फिर आप अपने WordPress कि website में direct text select करके कर सकते है .

अगर आप internal link building कर रहे है, तो हमेशा Do follow ही रखे कभी भी use No-Follow ना करे.

आप text और image में internal link building कर सकते है. कोसिस कीजिए कि First linking, blog के first Paragraph में करनी चाहिए.

13. Out bound Linking:

अभी आप ने देखा कि Inbound या Internal linking kya hoti hai. अब हम जानेंगे Outbound Link Kya hoti hai? Outbound Linking करने के फायदे क्या होते है?

सबसे पहले जानते है 

वो link जो आप को एक domain से दूसरे domain में ले जाती है उसे Out bound Link कहते है. इसे मै आप को Example से समझाता हूँ.

out bount link on page seo optimization
out bount link optimization

मान लीजिए आप के पास आप कि Website A है और मेरी website B है. अब आप ने कोई Blog लिखा है off page seo के लिए और मैंने भी blog लिखा है off page seo techniques के ऊपर तो अगर आप को मेरा blog अच्छा लगा और आप चाहते है कि आप के user जो आप कि website में आए उनको आप अगर और Extra Information देना चाहते है. तो आप अपनी website A में मेरी website B को link कर सकते है और इसे ही Outbound Linking कहते है.

अगर आप अपनी website में Outbound Link डालते है तो उसके कई सारे Profite होते है.

  • आप के user को ज्यादा से ज्यादा content मिलेगा.
  • User का आप कि website में trust build होगा.
  • अगर आप किसी website को Outbound Link देते है तो आप को return में वो website backlinks दे सकती है.
  • आप कि website का Dwell time बढेगा. 

14. Use Social Sharing Button:

मै Social sharing Button के लिए इतना क्यों बोल रहा हूँ, जब कि आप को भी पता है social share directly आप कि ranking में मदद नहीं करते.

लेकिन अगर आप अपनी website में social share button use करते है. तो आप के user जिनको आप का content पसंद आएगा वो आसानी से आप के blog को Share कर पाएँगे.

और क्या पता आप का कौन सा blog कब Viral हो जाए इस लिए आप को मैं आप को सलाह दूँगा हमेशा Social Share Button का Use करे.

अगर आप कि website में social share button लगा हुआ है, तो आप के blog share 700% तक बढ़ जाते है.

इसलिए अगर आप ने अभी तक अपने blog में social share button add नहीं किया है तो ज़रुर add करे.

15. Cluster SEO: 

यह On Page SEO in hindi कि सबसे most Important On Page SEO Technique In Hindi है शायद आप को अभी तक यह On Page SEO Technique hindi में सीखने या पढ़ने को नहीं मिली होगी.

और मेरा Believe कीजिए ये On Page SEO Technique in hindi आप के blog को rank कराने में आप कि बहुत help करेगी.

What Is Cluster SEO:

इस Cluster SEO कि Technique वास्तव में Cluster computing से आया है इस में हम क्या करते है अपने कई सारे blog को आपस में connect कर देते है.

नहीं समझे चलिए आप को इस image से समझाता हु.

Cluster SEO
Cluster SEO

जैसा कि ऊपर आप को एक image दिख रही है इसमें मैंने अपने कई सारे blog कि link एक जगह अपने एक blog में डाल रखी है. इसे ही Cluster SEO कहते है. ये आप blog या Webpage कैसी में भी कर सकते है.

Importance of Cluster SEO:

Cluster SEO के कई सारे importance है चलिए जानते है.

  • आप के website में Inbound linking कि अलग से जरूरत नहीं पड़ेगी 
  • आप कि ranking में मददगार है.
  • इसकी मदद से आप अपना Dwell time बढ़ा सकते है.

Cluster SEO कि मदद से अपने उन blog को भी rank करा सकते हो जो पुराने blog है.

Conclusion:

अपने इस blog में मैंने आप को बहुत अच्छे से बताने कि कोसिस कि है कि On Page SEO in Hindi kya hai. और साथ ही साथ आप को यहाँ पर 14 Best On page SEO Techniques In Hindi बताई है.

मैं इस बात कि gaurenty लेता हूँ, अगर आपने अपने blog में ये सारी On Page SEO Optimization Techniques follow कि है तो आप के blog को Google के First Page में आने से कोई रोक नहीं सकता.

अपने Blog को हमेशा Rank में रखने के लिए आप को On Page SEO को Time to Time Update करते रहना चाहिए. और साथ ही साथ आप को Off Page SEO भी करना जरुरी होता है.
अनुरोध: अगर आप को Blog अच्छा लगा हो तो आप Comment करके अपने अनुभव को हमारे साथ साझा कर सकते है. अगर आप के Blog को लेकर कुछ सुझाव हो तो वो भी आप Comment Section में बता सकते है.

अगर आप full seo सीखना चाहते है तो तो हमारे और भी Blog Post Publish हो चुके है. आप नीचे दीगई Links पर Click करके उनको पढ़ सकते है.